Shame

क्या बताऊं उसके आंगन में शामें मैंने गुजारी बहुत है,
चार दिन की ही सही हमारे इश्क की कहानी प्यारी बहुत है।

                                                    Saloni Rai
5 Likes

Beautiful

1 Like