Mohabbat

धड़कते दिल की कोई सौगात हो तुम
तुम सोच नही सिर्फ ,
मेरी बात हो तुम
लम्हों की धूप में ढलती कोई
रूहानी रात हो तुम
हर मक़्क़रर तक़लिफों के बाद
सुधरते से कोई हालात हो तुम।।
मुझको अब कोई परवाह कहाँ के
जब तलक मेरे साथ हो तुम ।।

4 Likes

Bahut khoob

1 Like

Kya baat !!!

1 Like

bohot jabardast…

1 Like

Arey wah , kya bath hai .

1 Like

Thanks mam

Thanks brother

Thanks sir

1 Like