MERA DOST MERA HUMSAFAR

दिल के तार अक्सर झनझना जाते हैं

देख के तुमको उदास नैन मेरे भी डबडबा जाते हैं

पाता हूं सुकून तुम्हारे लबों पर मुस्कान देखकर

तो कभी कभी सोचता हूं कैसे पति पत्नी इन मुश्किलों
में दोस्त बन जाते हैं ।

6 Likes

Nice. Welcome

bahut acha lekha hai… @Kavita_Jethwani
welcome in yoalfaaz family :bouquet::bouquet::bouquet::clap:

Welcome to @yoalfaaz family
@Kavita_Jethwani
Well written
Keep posting
:smiley::bouquet:

So beautifully written. :heart:
Welcome to YoAlfaaz, hope to see you more. :heart: