Kuch Ansuljhi Bate....!

जब एक लड़का और एक लड़की दोस्त बन जाते हैं, तो लोगों की नजरों में खटकने लगते हैं उनका साथ रहना किसी को रास नहीं आता है , और यदि एक दूसरे से प्यार कर बैठे तो फिर तो पूछो ही मत… उसके बाद तो सब उनको ऐसे देखते हैं जैसे कि पता नहीं कितना बड़ा गुनाह कर दिया है उन्होंने, चलो इस बात को छोड़ो…, अब दूसरी बात करते हैं, क्या होगा यदि एक लड़की किसी दूसरी लड़की से प्यार करने लगे ( मतलब उसके बिना उसका पल भी सुकून से न गुजरे, वो चाहे की जिन्दगी के हर मोड़ पर, हर राह पर उसे उसका साथ मिले) या एक लड़का एक लड़के से…?

ऐसे लोगों का नजरिया उनके लिए कुछ कुशलता लिए हुए नहीं होगा, बल्कि उनको लोग और भी गिरा हुआ समझने लगेगा और क्या पता उनको जाति से भी अलग कर दिया जाए

अब बात यहा आती है कि नर और नारी मे प्रेम हो जाए तो भी लोगों को रास न आए, यदि नर और नर या नारी और नारी ने प्रेम हो जाए वो भी लोगों को रास न आए

(मुझे नहीं पता आप सभी भी इसे पढ़ कर क्या विचार आए लेकिन बात इतनी जरूर है कि प्रेम चाहे किसी से भी करो लोगों को कभी कुछ रास नहीं आता लेकिन हाँ यदि किसी से भी प्रेम करो तो केवल और केवल अपनी इच्छा पूर्ति का न सोचकर सामने वाला क्या चाहता है ये सब विचार भी कर लेना चाहिए)

यदि मेरी इन बातों से आहत महसूस हो तो क्षमा प्रार्थी हैं :pray:
Kittu_ki_diary

4 Likes

:heavy_heart_exclamation::heavy_heart_exclamation::heavy_heart_exclamation::heavy_heart_exclamation::heavy_heart_exclamation::heavy_heart_exclamation:

2 Likes