Ishq ka kheal

टूटे शिशो को घर में कोई रखता है क्या ,
अपनी आदत लगा कर ,कोई किसी को छोड़ता है क्या ,

ये कहां तक जायज है , तुम ही बताओ
अपने मजे के लिए ,कोई किसी के दिल से खेलता है क्या।

6 Likes