इश्क़ एक आगाज़ ! (Ishq ek agaaz)

इश्क़ एक आगाज़ !:heart:

वो शाम बड़ी बेगैरत थी,
जिसमें तेरी सूरत थी,
वो इश्क़ बड़ा ज़ालिम था,
जिस इश्क़ में तेरी मूरत थी,

अटक-अटक के जो आता था,
वो इश्क़ बड़ा बेगैरत था,
हम सन्नाटे को इकरार समझते थे,
लेकिन मेरे तो मेहबूब सुनहरा था,

जो बूंद आंसुओं की थी,
तो साथ हमारा इश्क़ का था,
न जाने फिर कब साथ वो ,
खामोशी में कुछ बदल गया,
इश्क़ गान किया करते थे,
दिलो एहसान किया करते थे,
दो दिन की ही बात से ,
वो रिश्ता सदियों में बदल गया ,

उन सहमी सिकुड़ती रातों में,
तड़पन कुछ मेरे जज़्बातों की ,
इश्क़ का जाम बन कर कुछ मेरे
लघु में उतार गया ,
इकरार की सीमा लांग गया ,
दर्द ए दिल कुछ पहचान गया ,

इस पागल पन का क्या कहना था,
इश्क़ चढ़ा था सिने में ,
धोका धुंधला लगता था,
तू लखनऊ नबाबी गुड़ियाँ थी,
मैं फर्रुखाबादी गहरा था ।

तुझको हरपल देखा करता था,
अब वही मेरी कहानी थी,
मैं अफसोस एक मुलाज़िम था,
और तू मुकम्मल उसकी रानी थी,

इज़्हारे-एहसान दिल में उठता था,
जब तक तू मेरी दीवानी थी,
दूरियों से रिश्ता जोड़ा था,
अब यही मेरी कहानी थी,

इज़्हार इश्क़ किया करते थे,
अब तो इश्क़ मुकम्मल करने की ठानी थी,
लो तब्दीली का दौर आ गया,
ये इश्क़ की महफ़िल सुलझी न थी,
तब्दीली भी सुलझानी थी ,

इश्क़ दास्तान की बात करें तो ,
ये इश्क़ दास्तान दुनियां को सुनानी थी,
ख्वाब सिलसिले बड़े छोटे थे,
लेकिन मेरी याद तेरी दीवानी थी,

शाम चकोरी चितवन जैसी ,
घनघोर इश्क़ बरसाया करती थी,
फिर अजमल कुछ छोटा स
मोड़ दिखलाया करती थी,

तू राम सरीखी चौकट थी,
मैं इश्क़ सरीखा दरवाज़ा था,
रात अंधेरे की महफ़िल में,
तुझको सनझोया करता था ,
तू लखनऊ नवाबी गुड़ियाँ थी,
मैं फर्रुखाबादी गहरा था ,

वो सुर्खनमी कुछ बदहाली में,
थाम कलेजा किस्सों का,
नग्म सुरीला नग्मा था,
कुछ शौक़ीन ऐतबार से गाया करती थी,
मैं फर्रुखाबादी गहरा था,
तू लखनऊ नबाबी गुड़िया थी,

फिर सिसकियों का कुछ एहसास हुआ,
मखमली आँखों में भी कुछ अब अंदाज़ था,
तू लाल चौक की पनघट थी,
में ठंडी सड़क का पानी था,
तू लखनऊ नबाबी गुड़ियाँ थी,
मैं इश्क़ मनसूबा पानी था ।

तू पल पल ठहरा करती थी,
ये मशरूफ एक मोड़ की कहानी थी,
एक समय आया ,
जब तू फर्रुखाबादी दीवानी थी,
मैं इश्क़ मनचला आशिक़ था,
जब बात हुई अभिसार से ,
तो पता चला प्रतिसार से ,
की मैं फर्रुखाबदी गहरा था ,
और तू मनचली एक दीवानी थी…।

जुपिटर शायराना ।

3 Likes