Guzaarish

शिकायतें जीवन में आसार दिखाने लगी,
कुछ ऐतबार , कुछ इश्क़ फरमाने लगी ,
की अभी भी नसीब मेरा मेरे पास है,
की आसमाँ का तू निखरने वाला बैराग है …

3 Likes

:ok_hand::ok_hand::ok_hand:

1 Like