Ek khwab bachpan ka

बचपन का था एक ख्वाब मेरा
जिसे करना था मुझे पूरा
जैसे जैसे में बढ़ा हुआ
रह गया मेरा वो ख्वाब अधूरा
अब में फिर से जाग गया हूं
अधूरे ख्वाब को पहचान गया हूं
अब में करूंगा उसे पूरा
अब में करूंगा उसे पूरा
बचपन का था एक ख्वाब मेरा
जिसे करना है अब मुझे पूरा

2 Likes