#changeurthoughts

“तुमने जो डाला जिस्‍म पे कपडां
उससे लोग आकर्षित होते है ||”
माना ये गलत बोला उस ना समझ महिला ने…
(ख़ैर!! सोच गंदी भी है उसकी तुम्हें ये समझ आया, लेकिन जो जुबान तुम्हारी गंदी है, नियत में दाग जो तुम्हारे भी है, आँखो से जो तुम छली करते जिस्‍म सबकी हो!!! ये बताओ क्या ये ग़लत नहीं??)

““मै कुछ उसकी तरफ नहीं न तुम्हारी तरफ हू””

चलो माना उसने बोला मगर
वो सही नहीं और जो तुम कर रहे वो सही है

“” उसपे उंगली उठा के तुम खुद पे खिचड़ फेक रहे हो,ये देख के सोच बदलो मगर तुम अपनी ही सोच उसके लिए गंदी कर रहे हो ||""

बिना जाने तुम इल्ज़ाम लगाना बंद करो
दूसरों को सबक सिखाने से पहले खुद को उस काबिल करो
सोच तुम बदलो, निगाहे तुम सुधारों, वो अध उम्र महिला है वो तो एक दिन चली जाएगी, फ़िर एक और एसी ही महिला आएगी,

“औरत तुम्हें भी बनना है,
लड़कियों को समझना होगा कि
दुश्मनी औरत से न रखे वो भी औरत है औरत होके औरत को जलील ना करे, बात हुई मर्द की वो खुद में बेहतर है लेकिन औरत से लाख गुना औरत को समझते और उनकी कदर करते है” "

((*ये उनके लिए जो खुद की दुश्मन होती है *))

वक़्त जाया नहीं करना चाहूंगी
तुम सबके ऊपर वर्ना बोलने को तो पूरी किताब लिख दु
तुम बदलो तो सोच अपनी
फ़िर इस दुनिया के असली रूप को पाओगे, वर्ना तबाह तो तुम्हें भी होना है एक दिन इसी सोच के ढेर मे…

शुक्रिया
:pray::hugs:
Crooked_dimple
Aditi

6 Likes

Just awesome… very nice…