Chand

दूर कहीं खड़ा में चाँद को ताकता हूँ,
कहीं ये चाँद तेरी रौशनी से ही तो रोशन नहीं…!! अक्सर ये सोचा करता हूँ…

5 Likes

Chand ka thukra

1 Like

:heart::heart:

1 Like

:blush::smiling_face_with_three_hearts:

1 Like