ज़िन्दगी तुम खूबसूरत हो... (Challenge of this week)

आज के चैलेंज के लिए आपके सामने वाक्य है.

ज़िन्दगी तुम खूबसूरत हो…

इस्पे अपने विचार लिखिए और सबके साथ मिलकर अपने प्यार को जस्बातो में दिखाए.

Write your original lines as a reply to the line written above. Follow the tags.
Per person, only one reply is allowed. Reply with maximum likes will win. This challenge will end at midnight next Saturday.

5 Likes

जिंदगी तुम बड़ी खूबसूरत हो ,
ये जो सांसे चल रही ,
तुम्ही इसकी मूरत हो ।

कभी खिल खिला कर गले लगाया ,
कभी धोके से तुझे सताया ,
कभी अपना बचपन सवारा ,
कभी तूने बुढ़ापा दिखाया ।
ये चार दिन की जिन्दगी में,
तूने ही सब रंग दिखाया ।

कभी सोच भी लेता हूं ,
अकेले खो भी लेता हूं ,
तेरी याद जब जब आई ,
तब रो भी लेता हूं ।

तुझे पाने की राह में ,
ना जाने कितने ही बेकरार है ।
तू जिसको मिली ,
वो ना जाने क्यूं अनजान है ।

मुझे तुझसे कोई सिकायत नहीं ,
तू पल पल देती रही उससे फुरसत भी नहीं,
लेकिन तुझे समझ सकू ,
इतनी मेरी हैसियत भी नहीं ।

5 Likes

Zindagi tum khubasurat ho,
Aye yaar agar tum sth ho,
Mera humasfar tum pass ho,
Mere sar par apno ka hath ho,
Asmaan tk Safalta jaanisaar ho,
Jb humari khushiya hazar ho,
Or gum se na koi talukaat ho,
To zindagi tum khubsurat ho,
Tum lajawab bemisaal ho…
~anjali @Nagma_lafzo_ka

3 Likes

Nyc

1 Like

Thnku dear