Bride ( koi pooche zara unse )

कोई पूछें ज़रा उनसे …

वो जो मेरे आँगन के चिराग़ हैं
इस दिल के मेहताब हैं ।
जिनके लिए हम कबसे बेताब हैं

कब तशरीफ़ लायेंगे…

इन्तज़ार का हर लम्हा बंदे पर जैसे अज़ाब हैं ।
मेरी ख्वाहिशों में यह सबसे ख़ूबसूरत ख़्वाब हैं ।
कोई पूछें ज़रा उनसे ।

6 Likes

Waah waah

1 Like

Thanks dear brother

1 Like