Bekhbar

जेसे तारे टिमटमते हैं टूटने से पहले
जेसे तारे टिमटिमाते हैं टूटने से पहले
वो उसी तरह हिचकिचाते थे जुठ बोलने से पहले :man_facepalming:t2:
श्यद उनको लगा हमें नही है उनके जुठ की ख़बर :white_check_mark:
शायद उन्हें मालूम ही नहीं था हम तो ख़ुद ही बेठे थे
बनकर बेख़बर :innocent::heart: Nikhil sharma

5 Likes

Very nice start @Nikhil
And
Welcome to YoAlfaaz family
Keep writing and sharing :slightly_smiling_face:

Welcome to YoAlfaaz family…:slight_smile:

1 Like

Welcome to YoAlfaaz dear. :heart:
Keep writing. :heart:

1 Like