Article 15

ना जाति,
ना धर्म,
ना रंग,
ना रूप,
ना लिंग,
किसी का मोहताज नही ये देश।
ये भारत है,
और मेरे देश का संविधान किसी से कम नही।।
जाति पे जो करे भेद,
उसका इस देश से ताल्लुक नहीं।
बाबा साहेब का ये मान है,
जिसने इस देश का बढ़ाया सम्मान हैं।

हर जाति का एक रूप है,
हर धर्म की एक पहचान हैं,
हर व्यक्ति का अभिमान है,
जो टूट गया उसका भी मान है,
जिसने लड़ा देश के लिये उसका सम्मान है।

आज मेरे देश मे एकता है,
कल तक छोटी जाति ‘नीच’ कहलाती थी,
आज वो भी बराबर हैं 'संविधान" में।

आएगा ऐसा भी वक़्त,
जब एकता सर चड़ के बोलेगी,
जो लिखा है पन्नों में,
कल उजागर होगा हकीकत में।

I’m proud to be an Indian. :black_heart:

-wordsbyritti

4 Likes

:heart::+1: nice post…